मुंगेर में BA परीक्षा के दौरान बिजली हुई गुल, मोबाइल की रोशनी में छात्रों ने दिया एग्जाम

मुंगेर में BA परीक्षा के दौरान बिजली हुई गुल
मुंगेर में BA परीक्षा के दौरान बिजली हुई गुमुंगेर में BA परीक्षा के दौरान बिजली हुई गु

मुंगेर में BA परीक्षा के दौरान बिजली हुई गुल: बिहार की बदहाल व्यवस्था और उसपर वहां के लोगों के जुगाड़ की कई खबरें और तस्वीरें पहले भी सामने आ चुकी हैं। मुंगेर में बिहार की शिक्षा व्यवस्था की पोल खोलने वाली तस्वीर सामने आयी है। बिजली नहीं रहने के कारण परीक्षार्थी मोबाइल फोन (Mobile Phone) की रोशनी में परीक्षा दिए । दरसल यह और कहीं नहीं बल्कि मुंगेर (Munger) के प्रतिष्ठिति कॉलेजों में शुमार आरडी एंड डीजे कॉलेज की तस्वीर है। विधार्थियों के मोबाइल टॉर्च की रोशनी में परीक्षा देने का वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) में वायरल हो रहा है। वीडियो सामने आने के बाद परीक्षा की तैयारी और नियम-कायदे को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार आरडी एंड डीजे कॉलेज (RD and DJ College) में जेआरएस कॉलेज के छात्रों का एग्जाम सेंटर पड़ा था। यहां स्नातक पार्ट वन और टू की सब्सिडी के इतिहास की परीक्षा चल रही है। तभी अचानक बारिश शुरू होने से कॉलेज की बिजली चली गई, काफी प्रयासों के बाद भी जब जेनरेटर स्टार्ट नहीं पाया तो छात्रों को अपने मोबाइल टॉर्च की रोशनी (Mobile Torch Light) में परीक्षा देने को कहा गया।

मोबाइल टोर्च की लाइट में एग्जाम देने को मजबूर छात्र

अँधेरे में बैठे परीक्षार्थियों ने थक-हार कर अपना मोबाइल निकाला और उसके फ्लैश लाइट में पेपर लिखना शुरू कर दिया। यह देख कर परीक्षा कंडक्ट करा रहे प्रोफेसर झेंप गए कि इतने बड़े कॉलेज में बिजली जाने के बाद लाइट की कोई व्यवस्था नहीं की जा सकी। परीक्षार्थियों ने कहा कि वो काफी दूर से एग्जाम देने आए हैं, मगर यहां किसी प्रकार का कोई इंतजाम नहीं है।

कॉलेज प्रशासन ने क्या कहा

आरडी एंड डीजे कॉलेज के केंद्राधीक्षक संजय कुमार ने सफाई देते हुए कहा कि बारिश के कारण बिजली गुल हो गई थी और जेनरेटर भी खराब हो गया था। टेक्नीशियन को बुलाया लेकिन जेनरेटर स्टार्ट नहीं हो पाया

बताया जा रहा है कि आरडी एंड डीजे कॉलेज में विभिन्न कॉलेजों के लगभग 800 छात्र 11 क्लासरूम में बुधवार को परीक्षा दे रहे थे। तभी अचानक बारिश शुरू हो गई और बिजली चली गई। इसके बाद कॉलेज प्रबंधन के द्वारा जेनरेटर चालू करवाने के लिए भागम-भाग की गई। मगर जनरेटर स्टार्ट नहीं हुआ।

सोशल मीडिया यूजर्स ने पूछा- फोन और परीक्षा एक साथ कैसे?

सोशल मीडिया पर इसको लेकर यूजर्स तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। एक यूजर (@sonu1796sharma) ने कहा, “वो तो ठीक है पर परीक्षा और मोबाइल एक साथ कैसे?” एक यूजर ने इसी तरह नीतीश कुमार सरकार पर तंज किया।

यूजर ने कहा, “नीतीश बाबू की जय जय करिए सब अच्छा होगा।” एक यूजर (@Amitkoh57677160) का कुछ और ही कहना था। यूजर ने सवाल उठाते हुए कहा, “रात में परीक्षा कहां होती है, मोबाइल लेकर परीक्षा देने का रिवाज़ किस विश्विद्यालय में है, कृपया उल्लेख करें।”