बिहार के मुजफ्फरपुर में निवेश करेगा अडानी समूह, हजारों युवाओं को मिलेगा रोजगार

बिहार के मुजफ्फरपुर में निवेश करेगा अडानी समूह,
बिहार में निवेश करेगा अडानी समूह

बिहार के मुजफ्फरपुर में निवेश करेगा अडानी समूह,: बिहार में उद्योग धंधे लगाने को लेकर माहौल धीरे-धीरे बनता जा रहा है। जहां पर अब देश के बड़े-बड़े उद्योगपति का बिहार का रुख करना चाहते हैं। वही देश के कई बड़े बड़े उद्योग धंधे अब बिहार में शुरू किए जा रहे हैं। जहां पर कई इथेनॉल प्लांट और फूड पार्क का भी निर्माण किया जा रहा है।

देश के सबसे धनी व्यक्ति गौतम अडानी ग्रुप की सहायक कंपनी अडानी विल्मर उत्तर बिहार के मुजफ्फरपुर में करीब दो हजार करोड़ रुपए का निवेश करेगी। अडानी विल्मर की टीम ने जिले के मोतीपुर फूड पार्क और शहर के बेला औद्योगिक क्षेत्र का दौरा किया है। यहां की सुविधाएं का आंकलन के बाद अब कंपनी यहां खाद्य तेल का प्लांट लगा सकती है। बियाडा के अधिकारियों के जवाब पर अडानी समूह की टीम ने संतोष जताया।

अडानी विल्मर कंपनी तीन सदस्यीय टीम ने मुजफ्फरपुर का किया दौरा

अडानी विल्मर कंपनी की तीन सदस्यीय टीम ने बिहार औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकरण (बियाडा) के अधिकारियों से दोनों स्थानों पर भूजल स्तर, बिजली की उपलब्धता, आसपास के बाजार, एनएच-एसएच व रेलवे माल गोदाम आदि इंफ्रास्ट्रक्चर की जानकारी ली। तीनों सदस्यीय टीम पहले बेला औद्योगिक क्षेत्र के आईडीपीएल परिसर पहुंची।

इसके बाद टीम मोतीपुर पहुंची। टीम का कहना है कि प्लांट लगाने के लिए 40 एकड़ जमीन चाहिए. यह अडानी विल्मर की बिहार में पहली इकाई होगी। इसके बनने के बाद करीब दो हज़ार लोगों के लिए यहां रोज़गार के अवसर खुलेंगे। कंपनी के इंजीनियरों की टीम जल्द ही दौरा करेगी। इसके बाद डीपीआर बियाडा को सौंपी जा सकती है।

निवेश से दो हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

बियाडा के कार्यकारी निदेशक रवि रंजन प्रसाद ने मीडिया को बताया कि अडानी विल्मर की ओर से मुजफ्फरपुर में दो औद्योगिक क्षेत्रों में बड़ा निवेश किए जाने की उम्मीद है। इसी वजह से कंपनी की टीम ने दोनों औद्योगिक क्षेत्रों का जायजा लिया। अब इंजीनियरों की टीम दौरा करेगी।

इसके बाद बियाडा को प्रस्ताव मिलने की संभावना है। अगर ऐसा होता है तो ये अडानी विल्मर की बिहार में पहली यूनिट होगी। इससे दो हजार लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलने की संभावना है। उल्लेखनीय है कि बीते 19 मार्च को मेगा फूड पार्क के लिए केंद्र सरकार ने अपनी मंजूरी दी थी।