मिलिए 66वीं BPSC परीक्षा के टॉपर्स से,पढ़े इनके सफलता की कहानी

66वीं BPSC परीक्षा के टॉपर्स
66वीं BPSC परीक्षा के टॉपर्स

BPSC Result 2022: बिहार लोक सेवा आयोग ने 66वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा (BPSC 66th Result) 2022 का फाइनल रिजल्ट जारी कर दिया हैं जिसमे कुल 685 अभ्यर्थी सेलेक्ट हुए हैं 66वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा (BPSC 66th Result) 2022 का फाइनल रिजल्ट बीपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट www.bpsc.bih.nic.in पर जारी हुआ है आप विजिट करके रिजल्ट देख सकते हैं. बीपीएससी 66वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा में बिहार के वैशाली जिले के सुधीर कुमार ने टॉप किया है.

सुधीर कुमार (रैंक 1)

बिहार लोक सेवा आयोग की 66वीं संयुक्‍त प्रतियोगिता परीक्षा में वैशाली जिले के सुधीर कुमार टापर हैं. ये मध्‍यमवर्गीय परिवार से आते हैं. वैशाली जिले के महुआ निवासी सुधीर कुमार आइआइटी कानपुर से बीटेक (B.Tech From IIT Kanpur) की डिग्री लेने के बाद सिविल सेवा की तैयारी में जुटे थे. मध्‍यमवर्गीय परिवार से आने वाले सुधीर का कहना है कि सफलता हासिल करनी है तो कठिन मेहनत करना ही होगा. इसका कोई शार्टकट नहीं है.

अंकित कुमार(रैंक 2)
नालंदा जिला के रहने वाले अंकित कुमार लोक सेवा आयोग की 66वीं संयुक्‍त प्रतियोगिता परीक्षा में  दूसरा स्थान हासिल किया है। अंकित अस्थावां प्रखंड के अकबरपुर गांव के रहने वाले हैं. उनके पिता उदय शंकर प्रसाद किसान हैं. अंकित ने 10वीं की परीक्षा मिलिट्री स्कूल बेंगलुरु से पास की है. इसके बाद IIT गुवाहाटी से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल किया है। अभी वे दिल्ली में रहकर सिद्धांत संघ लोक सेवा आयोगकी तैयारी कर रहे हैं ।

सिद्धांत कुमार ने पाई 5वीं रैंक (रैंक 5)
सिद्धांत कुमार ने 66वीं संयुक्‍त प्रतियोगिता परीक्षा में पांचवी रैंक पाई है. वे राजधानी के कंकड़बाग निवासी हैं. इनके पिता दुकानदार श्यामनंदन सिंह की हार्डवेयर की दुकान है. सिद्धांत कुमार भोपाल से एमबीए किया है. 2017 में कोच्ची विश्वविद्यालय से बीटेक इलेक्ट्रानिक्स एवं कम्युनिकेशन की पढ़ाई की. सिद्धांत संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की तैयारी में जुटे हैं. पहले भी संघ लोक सेवा आयोग के साक्षात्कार तक पहुंच चुके हैं.

पहले प्रयास में ही मोनिका श्रीवास्तव को मिली सफलता, पाई छठी रैंक (रैंक 6)
औरंगाबाद की रहने वाली मोनिका श्रीवास्तव अपने पहले प्रयास में ही बीपीएससी क्रैक कर सहायक राज्य कर आयुक्त बनी हैं. वर्ष 2016 में आइआइटी गुवाहाटी से कम्प्यूटर साइंस से इंजीनियरिंग (Computer Science from IIT Guwahati) के बाद चेन्नई में साफ्टवेयर इंजीनियर हैं. मोनिका ने जॉब के साथ-साथ हर दिन सेल्फ स्टडी की. छुट्टी के साथ-साथ शनिवार-रविवार को 10-12 घंटे पढ़ाई करती थी. वह आरंभ से ही बिहार आना चाहती थीं.

विनय कुमार रंजन अब बनेंगे डीएसपी (रैंक 7)
विनय कुमार रंजन को बीपीएससी में सातवीं रैंक मिली है. आइआइटी दिल्ली (IIT Delhi) से एमटेक करने वाले विनय रंजन फिलहाल राजधानी के कंकड़बाग में जेईई-नीट नामांकन के लिए बच्चों को तैयारी कराते हैं. विनय मूल रूप से जमालपुर के नया गांव के रहने वाले हैं. पिता जीतन यादव बैंक से सेवानिवृत होकर अब सामाजिक कार्यों में है.

अमर्त्य कुमार ने पाई 10वीं रैंक (रैंक 10)
अमर्त्य कुमार आदर्श को 66वीं बीपीएससी परीक्षा में दसवीं रैंक पाई है. अरवल के कुर्था निवासी आदर्श को 63वीं संयुक्त परीक्षा में वित्त सेवा में पोस्टिंग मिली थी. वह फिलहाल वह पटना में ही पदस्थापित हैं. इसके बाद से वह लगातार तैयारी में लगे थे. उन्‍होंने 2008 में भारतीय वायु सेना में योगदान दिया. इसके बाद नालंदा खुला विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की. इसके बाद 2017 में बैकिंग में लेकिन इसी साल 2017 में ही बैंक की नौकरी छोड़ दी . फिर सिव‍िल सेवा की तैयारी के लिए दिल्‍ली गए. वर्ष 2019 में 63वीं बीपीएससी में चयन हुआ.

बीपीएससी 66वीं परीक्षा के टॉपर्स की लिस्ट
रैंक 1- सुधीर कुमार, वैशाली (Sudhir Kumar, Vaishali)
रैंक 2- अंकित कुमार, नालंदा (Ankit Kumar, Nalanda)
रैंक 3- ब्रजेश कुमार,अररिया (Brajesh Kumar, Araria)
रैंक 4- अंकित सिन्हा, औरंगाबाद (Ankit Sinha, Aurangabad)
रैंक 5- सिद्धान्त कुमार , पटना (Siddhant Kumar, Patna)
रैंक 6- मोनिका श्रीवास्तव , औरंगाबाद (Monika Srivastava, Aurangabad)
रैंक 7- विनय कुमार रंजन, पटना (Vinay Kumar Ranjan, Patna)
रैंक 8- सदानंद कुमार, पूर्वी चंपारण (Sadanand Kumar, East Champaran)
रैंक 9- आयुष कृष्णा, मुजफ्फरपुर (Ayush Krishna, Muzaffarpur)
रैंक 10- अमर्त्य कुमार आदर्श, अरवल (Amartya Kumar Adarsh, Arwal)