पटना जंक्शन की बदलेगी सूरत टाटा पार्क के हिस्से में बनेगा स्टैंड मीठापुर ओवरब्रिज के नीचे इलेक्ट्रिक बसों की पार्किंग

पटना जंक्शन की बदलेगी सूरत, टाटा पार्क के हिस्से में बनेगा स्टैंड, मीठापुर ओवरब्रिज के नीचे इलेक्ट्रिक बसों की पार्किंग
पटना जंक्शन की बदलेगी सूरत, टाटा पार्क के हिस्से में बनेगा स्टैंड, मीठापुर ओवरब्रिज के नीचे इलेक्ट्रिक बसों की पार्किंग

पटना जंक्शन की बदलेगी सूरत टाटा पार्क के हिस्से में बनेगा स्टैंड मीठापुर ओवरब्रिज के नीचे इलेक्ट्रिक बसों की पार्किंग: बिहार की राजधानी पटना जंक्शन की सूरत भारतीय रेलवे बदलने जा रही है। रेलवे और जिला प्रशासन ने बताया महावीर मंदिर की ओर टाटा पार्क, ऑटो स्टैंड और दूध मार्केट के टूटे हिस्से को मिलाकर एक नया ऑटो स्टैंड बनाया जाएगा। इसके अलावा करबिगहिया छोर पर मीठापुर ओवरब्रिज के नीचे इलेक्ट्रिक बसों के लिए पार्किंग बनाई जाएगी। इतना ही नहीं यहां पर स्टैंड बनाने को लेकर रेलवे और जिला प्रशासन के बीच बातचीत चल रही है। यहां निर्माण कार्य की रूपरेखा को लेकर रेलवे, पटना ट्रैफिक एसपी और जिला प्रशासन के बीच कई बार बैठकें हो चुकी हैं। रेलवे सूत्रों के मुताबिक दूध मार्केट और टाटा पार्क के भाग को मिलाकर पटना जंक्शन के ऑटो स्टैंड का विस्तार किया जाना है। इससे शहर के लोगों को बेहद आसानी से अलग-अलग रूट के लिए ऑटो मिलने लगेंगे। इस बारे में दानापुर रेल मंडल के अधिकारी ने बताया कि पटना जंक्शन गोलंबर के पास जाम एक बहुत बड़ी समस्या है। इसे ही दूर करने के लिए नई योजना बनाई गई है। मौजूदा समय में लोग बेतरतीब ढंग से ऑटो के परिचालन और पार्किंग से परेशान है। जब बड़ी जगह में ऑटो स्टैंड होगा तो यात्रियों को परेशानी नहीं होगी।

पटना जंक्शन की बदलेगी सूरत, टाटा पार्क के हिस्से में बनेगा स्टैंड, मीठापुर ओवरब्रिज के नीचे इलेक्ट्रिक बसों की पार्किंग

करबिगहिया छोर में इलेक्ट्रिक बसों की पार्किंग से कई फायदें

रेल अधिकारी ने बताया कि मीठापुर ओवरब्रिज के नीचे करबिगहिया छोर में रेल परिसर की जमीन में इलेक्ट्रिक बसों के लिए पार्किंग बनाने की योजना है। इससे जंक्शन और आसपास के लोगों को एक ही जगह से बसें मिल सकेंगी। वहीं, पटना जंक्शन के अधिकारियों का भी कहना है कि यहां से बसों का परिचालन सुगम और सहज रहेगा।

पटना रेलवे जंक्शन के पास बनेगा सब-वे

पटना जंक्शन के पास पैदल राहगीरों के लिए 440 मीटर लंबा सब-वे बनेगा, जो बुद्ध स्मृति पार्क के पीछे स्थित मल्टी लेवल पार्किंग होते हुए जीपीओ गोलंबर के पास प्रस्तावित मल्टी मॉडल हब से जुड़ेगा। पटना जंक्शन से मल्टी लेवल पार्किंग तक का 330 मीटर हिस्सा अंडरग्राउंड होगा। 110 मीटर सतह पर रहेगा। इस सब-वे में 2 मीटर की दो स्थिर लेन और एक-एक मीटर के दो ट्रैवलेटर प्रस्तावित हैं। ट्रेन यात्रियों को स्टेशन के पास के जाम का सामना नहीं करना होगा। बता दें पटना सिटी परियोजना के तहत मंदिरी नाले पर पक्की सड़क बनाई जाएगी। इसका शिलान्यास कर दिया गया है। आर्ट कॉलेज के पास आयोजित कार्यक्रम के दौरान पथ निर्माण विभाग मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि मंदिरी नाले पर सड़क के निर्माण से वार्ड 25, 26 और 27 के लोगों की समस्याओं का समाधान होगा। इसका फायदा 5 लाख से अधिक की आबादी को मिलेगा। उन्होंने कहा कि इसे भविष्य में एएन सिन्हा इंस्टीट्यूट के पास जेपी गंगा पाथवे से जोड़ा जाएगा।