FIR के बाद भी खान सर ने पुलिस से नहीं साधा संपर्क बढ़ सकती हैं मुश्किलें

FIR के बाद भी खान सर ने पुलिस से नहीं साधा संपर्क, बढ़ सकती हैं मुश्किलें
FIR के बाद भी खान सर ने पुलिस से नहीं साधा संपर्क, बढ़ सकती हैं मुश्किलें

FIR के बाद भी खान सर ने पुलिस से नहीं साधा संपर्क, बढ़ सकती हैं मुश्किलें: पटना के चर्चित कोचिंग संचालक खान सर की रेलवे NTPC प्रोटेस्ट में मुश्किलें बढ़ सकती हैं. रेलवे परीक्षा रिजल्ट उपद्रव केस में पटना के खान सर आरोपी बनाए गए हैं. खान सर समेत दूसरे शिक्षकों ने अब तक पटना पुलिस से नोटिस नहीं लिया है.

रेलवे भर्ती बोर्ड की एनटीपीसी परीक्षा रिजल्ट (RRB NTPC Exam ) मामले को लेकर पटना में हुए उपद्रव और हंगामे के बीच पटना के चर्चित कोचिंग संचालक और यूट्यूबर खान सर (Khan Sir Patna) समेत 6 शिक्षकों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. दरअसल प्राथमिकी दर्ज होने के बाद इन शिक्षकों ने अब तक पटना पुलिस (Patna Police) से कोई संपर्क नहीं किया है. कोचिंग संचालकों के साथ पटना जिलाधिकारी डॉ चन्द्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में जो बैठक आयोजित की गई थी उस बैठक में पटना के वरीय पुलिस अधीक्षक मानवजीत सिंह ढिल्लों ने साफ तौर पर कहा था कि आरोपित कोचिंग संचालकों को अपना पक्ष रखने का मौका पटना पुलिस देगी.

FIR के बाद भी खान सर ने पुलिस से नहीं साधा संपर्क बढ़ सकती हैं मुश्किलें

पटना के वरीय पुलिस अधीक्षक मानवजीत सिंह ढिल्लों ने बताया था कि नोटिस लेने के लिए आरोपित को खुद थाने जाना होगा. अगर वह निर्धारित अवधि तक पुलिस थाना नहीं पहुंचते हैं तब इसके बाद पटना पुलिस उनके घर पर नोटिस चस्पा करेगी. पुलिस अधिकारियों की मानें तो आईपीसी की जिन धाराओं में शिक्षकों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है उनमें 7 साल से कम की सजा है. इसके तहत उपद्रव करने वाले छात्रों को मौके से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया लेकिन उनके बयान पर जिन लोगों को अभियुक्त पटना पुलिस ने बनाया है उनकी गिरफ्तारी जांच के बाद ही हो सकेगी.

पत्रकार नगर थाना की पुलिस सीआरपीसी की धारा 41 के तहत अभियुक्त बनाए गए खान सर के अलावा दूसरे 6 शिक्षकों को नोटिस देने की प्रक्रिया शुरू कर चुकी है. शिक्षकों को अभी तक कोर्ट से भी जमानत नहीं मिल पाई है और नहीं थाने से नोटिस लेने के लिए वो पहुंचे हैं. राजेंद्र नगर टर्मिनल पर तोड़फोड़ और हंगामा करने के आरोप में पुलिस द्वारा लखीसराय के तीन और झारखंड के एक छात्र को मौके से गिरफ्तार किया गया था.

इन छात्रों के बयान के आधार पर कोचिंग संचालक खान सर, एसके झा,अमरनाथ, नवीन सर, गगन प्रसाद और गोपाल वर्मा के खिलाफ पत्रकार नगर थानेदार मनोरंजन भारती ने अपने ही लिखित शिकायत पर पत्रकार नगर थाने में केस दर्ज कराया था. इस घटना के बाद खान सर के कोचिंग संस्थान पर अभी भी ताला लटका हुआ है. खान सर अभी भी अंडर ग्राउंड बताए जा रहे हैं, हालांकि इस बीच उनका सोशल मीडिया पर वीडियो जरूर सामने आ रहा है.